Navigation

 admin@harekrishnabooks.store  +91-94298 29020

महारानी कुन्ती की शिक्षाएँ

महारानी कुन्ती की शिक्षाएँ

By कृष्णकृपामूर्ति श्री श्रीमद् ए.सी. भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद
 80

कुन्ती महारानी , यह एक करूणरसप्रधान व वीरतापूर्ण व्यक्तित्व है , जो प्राचीन भारत के इतिहास के एक स्फोटक पर्व में दृष्टिगोचर होता है । वे विश्व साम्राज्यपद के लिए लड़े गए रक्तरंजित भ्रातृ - घातक युद्ध के प्रवर्तक एक जटिल राजनीतिक नाटक की प्रमुख पात्रा हैं । तथापि उनके सम्पूर्ण क्लेशों में उन्हें एक आंतरिक प्रबोध तथा शक्ति का अनुभव होता है , जो उन्हें तथा उनके सहजनों को संकट की घड़ी में मार्ग दिखाता है ।
महारानी कुन्ती की शिक्षाएँ उनके महान् तथा साध्वी व्यक्तित्व के भावोद्गार हैं , जो हृदय की गहनतम दिव्य भावनाओं को प्रकट करते हुए बुद्धि के सूक्ष्मतम् दार्शनिक तथा आध्यात्मिक तरंगों को भी प्रकट करते हैं ।
यहाँ पर , वैदिक संस्कृति तथा दर्शन के विश्व में सबसे प्रसिद्ध , आचार्य कृष्णकृपामूर्ति श्री श्रीमद् ए.सी. भक्तिवेदान्त स्वामी प्रभुपाद " महारानी कुन्ती की शिक्षाएँ " प्रस्तुत करते हैं जो अपनी स्पष्टता तथा शक्ति से वाचकों को विस्मित कर देते हैं ।


Share:
Nameमहारानी कुन्ती की शिक्षाएँ
PublisherBhaktivedanta Book Trust
Publication Year1995
BindingPaperback
Pages214
Weight242 gms
ISBN10: 9384564206

You May Also Like